New Updates

BEST INSPIRATIONAL STORY FOR STUDENTS अब्दुल कलाम के अनमोल विचार

BEST INSPIRATIONAL STORY FOR STUDENTS

अब्दुल कलाम के अनमोल विचार 


MOTIVATIONAL STORY FOR STUDENTS

दोस्तों आज मैं आपको ऐसी एक महान हस्ती के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसके बारे में कुछ बाते पढ़के आप हैरान रह जायेंगे। अगर आप एक विध्यार्ती है तो आपको इनके बारे में जानलेना आवश्यक है। एक सामान्य से बच्चे ने पेपर बेचने वाले ने राष्ट्रपति बनने  तक का सफर कैसे तयकिया किया होगा। 

                              क्या आज कोई सामान्य सा पेपर बेचने वाला एक लड़का ये सपना देख सकता है या नहीं ये सवाल हमारे मन में उठता है लेकिन इसका जवाब नहीं मिलता। अगर इस सवाल का जवाब आप वाकई में ढूंढ़ना चाहते है तो सिर्फ एक बार ए पी जे अब्दुल कलाम के जीवन के बारे में पढ़े तभी इसका जवाब संभव हैं। 

एपीजे अब्दुल कलाम motivational quotes 

                              "अगर तुम सूर्य की तरह चमकना चाहते हो 

                                   तो पहले सूर्य की तरह जलना सीखो "


ए पी जे अब्दुल कलाम का जन्म  

देश के पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न से सम्मानित वैज्ञानिक और इंजीनियर ए पी जे  अब्दूल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को दक्षिण भारतीय राज्य तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था।  इनके पिता जैनुलाब्दीन  न  तो पढ़े लिखे थे, न ही पैसे वाले थे। इनके पिता मछुवारो को नाव किराये पर दिया करते थे। अब्दुल कलाम ने अपनी आरंभिक शिक्षा जारी रखने के लिए अख़बार वितरित का कार्य भी किया। कलाम ने 1950 में मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से अंतरिक्ष विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की थी।  

                                  "ब्लैक कलर भावनात्मक रूप से बुरा होता है, 

                            लेकिन हर ब्लैक बोर्ड स्टूडेंट्स की जिंदगी ब्राइट बनाता है" 


ए पी जे अब्दुल कलाम का बचपन 

आठ साल की उम्र से ही कलाम सुबह 4 बजे उठते थे और नहा कर गणित की पढाई करने  चले जाते थे।  सुबह नहा कर जाने के पीछे का कारण यह था कि प्रत्येक साल पाँच बच्चे को मुफ्त में गणित पढ़ाने वाले उनके टीचर बिना नहाये आए बच्चो को नहीं पढ़ाते थे। ट्यूशन से आने के बाद वो नमाज़ पढ़ते और इसके बाद वो सुबह आठ बजे तक रामेश्वरम रेलवे स्टेशन और बस अड्डे पर न्यूज़ पेपर बाँटते थे। 

इसरो पहुँचने के बाद ........

कलाम 1962 में इसरो पहुंचे , इन्ही के प्रोजेक्ट डायरेक्टर रहते भारत ने अपना पहला स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान एसएलवी -3 बनाया। 1980  रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा के समीप स्थापित किया गया और भारत अंतराष्ट्रीय अंतरिक्ष क्लब का सदस्य बन गया। कलाम ने इसके बाद स्वदेशी गाइडेड मिसाइल को डिज़ाइन किया , उन्होंने अग्नि  और पृथ्वी जैसी मिसाइले भारतीय तकनीक से बनाई। 

                               मुस्कुरा कर देखो तो सारा जहाँ रंगीन हैं, 

                      वर्ना भीगी पलकों से तो आईना भी धुंदला नज़र आता है "




कलाम की कामयाबियाँ 

1992 से 1999 तक कलाम रक्षा मंत्री के रक्षा सलाहकार भी रहे।  इस दौरान वाजपेयी सरकार ने पोखरण में दूसरी बार नुक्लिअर टेस्ट भी किये और भारत परमाणु हथियार बनाने वाले देशो शामिल हो गया। कलाम ने विज़न 2020 दिया।  इसके तहत कलाम ने भारत  विज्ञान के क्षेत्र में तरक्की के जरिए 2020 तक अत्याधुनिक करने की ख़ास सोच दी गयी। कलाम भारत सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार भी रहे। 

                           "इंतजार  करने वालों को सिर्फ उतना ही मिलता हैं, 

                              जितना कोशिश करने वाले छोड़ दिया करते हैं "



सर्वोच्छ नागरिक सम्मान मिला 

कलाम को 1981 में भारत सरकार ने देश के सर्वोच्छ नागरिक सम्मान, पद्म भूषण और फिर 1990 में पद्म विभूषण और 1997 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया। भारत के सर्वोच्छ पद पर नियुक्ति से पहले भारत रत्न पाने वाले कलाम देश के कवर तीसरे राष्ट्रपति थे।  उनसे पहले यह मुकाम सर्वेपल्ली राधाकृष्णन और जाकिर हुसैन ने हासिल किया था। 


No comments

Thank you for comment

pan card kaise banaye online

Pan card Kaise Banaye online - ऑनलाइन से पैन कार्ड कैसे बनाये। अब पैन कार्ड बनाना हुआ बहुत आसान जानिये कैसे आप पैन कार्ड 10 मिनट में पा सक...